जाड़ों का मौसम

जाड़ों का मौसम
मनभावन सुबह

लोकप्रिय पोस्ट

लोकप्रिय पोस्ट

Translate

Google+ Badge

Google+ Followers

लोकप्रिय पोस्ट

शुक्रवार, 8 मई 2015

एक पावन सा ,चाँदनी से धुला -धुला प्यारा सा साथ,  ,
हर मुश्किल में लड़खड़ाने से पहले हीथामता वो हाथ ,
पुराना होकर  भी नई -नई सी लगती है जिसकी हर बात ,
आओ फिर से खोलें जतन से सहेज कर रखी हर सौग़ात। 
आज के दिन को जियें ख़्वाबों को फिर उसी शिद्द्त के साथ, 
बरसों  पहले शुरू किया  था जहाँ ये किस्सा हक़ीक़त  का थाम  कर हाथ !!!!
* ********
आज के दिन की खुशियों का उपहार आपके लिए
जिनके संग मेरी कहानी को खुशनुमा अंदाज़ मिले।   
      

कोई टिप्पणी नहीं: