जाड़ों का मौसम

जाड़ों का मौसम
मनभावन सुबह

लोकप्रिय पोस्ट

लोकप्रिय पोस्ट

Translate

Google+ Badge

Google+ Followers

लोकप्रिय पोस्ट

रविवार, 21 जून 2015

** २१ जून २०१५ **

      २७ सितम्बर २०१४ को संयुक्त राष्ट्र महासभा के अपने भाषण में भारत के प्रधान-मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भारतीय संस्कृति की अमूल्य धरोहर " योग " को वैश्विक जीवन शैली और मानवीय मूल्यों से जोड़ कर सारे प्रतिनिधियों के सामने इस तरह रखा कि ११ दिसंबर२०१४  को केवल ९०दिनों में १९३ सदस्योंवाली संयुक्त-राष्ट्रसभा के १७७ सदस्यों द्वारा समर्थित मोदीजी के प्रस्ताव को ऐसी स्वीकृति मिली जो समय और समर्थन दोनों ही दृष्टियों से अभूतपूर्व है। अत्यंत हर्ष का विषय है कि आज का दिन समस्त विश्व में अंतर्राष्ट्रीय-योग-दिवस के रूप में मनाया जा रहा है ।
सिंधु घाटी की सभ्यता से प्राप्त अवशेष हों या वेदों की ऋचाओं में वर्णित ज्ञान या  उपनिषदों ,पुराणों ,आरण्यकों के सूत्र भी में शरीर ,मन,चेतना को एकसूत्र में बाँधने वाले योग की अनेकानेक परिभाषायें मिलती हैं। धरती को अपनी माता और वसुधा के हर प्राणी को कुटुम्बी मानने वाले हमारे गौरवशाली देश की एक अद्वितीय विरासत आज पूरा विश्व अपना रहा है। .... यही घोषणा है उस सत्य की कि भारतीय सांस्कृतिक चिंतन देश,काल और  सभ्यताओं की हर सीमा से परे … सार्वभौमिक ,सर्वदेशिक ,सर्वकालिक चिंतन है । आइये २१ जून २०१५ को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को एक ऐसे भव्य,और पावन समारोह के रूप में मनायें और परस्पर भाईचारे और विश्व एकात्मता को भाव जगायें  ।      

कोई टिप्पणी नहीं: